पंजाब

पटवारियों व कानूनगो पर मेहरबान पंजाब सरकार ,रिटायर होने के बाद 9 साल और करेंगे पटवार गिरी

 

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार नौजवानों को रोजगार देने की जगह रिटायर्ड लोगों को रोजगार देने में लग गई है ।पंजाब की आम आदमी पार्टी की सरकार इस समय पटवारियों और कानूनगो पर इतनी मेहरबान हो गई है की सेवानिवृत्त होने के पश्चात उनको 9 साल और सेवाएं प्रदान करने का फैसला किया है। पंजाब सरकार ने सेवानिवृत्त पटवारियों व कानूनगो को भर्ती करने का फैसला किया है और सरकार ने साथ में ही उनकी सेवा मुक्ति की आयु 62 साल कर दी है। पंजाब में 58 वर्ष पर कर्मचारी रिटायर होते हैं ।पहले पंजाब में 70 वर्ष पर कर्मचारी सेवानिवृत्त हो जाते थे। लेकिन उसके बाद पिछली कैप्टन सरकार ने तर्क दिया था की नौजवानों को रोजगार देना है, इसलिए उन्होंने सेवानिवृत्ति की आयु 60 साल से घटाकर 58 साल कर दी थी ।जिसके बाद अब पंजाब में बड़ा बदलाव हुआ है और आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है। लेकिन सरकार ने अब पंजाब में सेवानिवृत्त पटवारियों व कानूनगो को फिर से नौकरी पर रखने का फैसला किया है। पहले सरकार ने सेवानिवृत्त हुए पटवारियों की सुबह 65 वर्ष तक लेने का प्रावधान किया हुआ था ,लेकिन अब सरकार ने 62 वर्ष कर दिया है जिससे साफ है कि अगर कोई पटवारी या कानूनगो सेवानिवृत्त होता है और फिर से ठेके पर रखा जाता है तो वह 9 वर्ष तक सरकारी नौकरी करेगा जिससे साफ है कि आने वाले समय में पंजाब सरकार को पटवारी व कानूनगो की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसलिए उनकी भर्ती भी नहीं करनी पड़ेगी और सरकार पर कोई नया वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा। हालाकि सरकार पटवारियों को ठेके पर रखने जा रही है उससे तो  बोझ पड़ेगा ही, लेकिन नौजवानों को रोजगार नहीं मिलेगा। पंजाब में बदलाव का सबसे बड़ा उदाहरण यही है कि सरकार अब नौजवानों की जगह बुजुर्ग लोगों को रोजगार देने में लग गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!