लेख

  • *चंद्र ग्रहण आज कितने बजे लगेगा , कहां कहां दिखेग, 6 राशि वालो की खुलेगी किस्मत*

    साल का सभ से बड़ा चंद्र ग्रहण आज 08 नवंबर को शाम 05 बजकर 20 मिनट से प्रारंभ होगा और…

    Read More »
  • जियो ने जून में हरियाणा में सबसे ज़्यादा ग्राहक जोड़े: ट्राई रिपोर्ट

    ग्राहकों में इस बड़े पैमाने पर वृद्धि के साथ, जियो हरियाणा में निर्विवाद रूप से मार्केट लीडर बना हुआ है। 30 जून, 2022 तक कुल 83.9 लाख ग्राहकों के साथ, जियो की राज्य में 30.9 प्रतिशत ग्राहक बाज़ार  हिस्सेदारी (सीएमएस)…

    Read More »
  • रिलायंस जियो को ई-अधिगम  कार्यक्रम के तहत नेटवर्क प्रोवाइडरों में से एक चुना गया

    रिलायंस जियो को ई-अधिगम  कार्यक्रम के तहत नेटवर्क प्रोवाइडरों में से एक चुना गया यह कार्यक्रम स्कूली छात्रों को न…

    Read More »
  • जियो-बीपी और टीवीएस मोटर ने हाथ मिलाया, दोपहिया और तिपहिया इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बनाएंगे चार्जिंग स्टेशन

    जियो–बीपी और टीवीएस मोटर ने हाथ मिलाया, दोपहिया और तिपहिया इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बनाएंगे चार्जिंग स्टेशन   नई दिल्ली, 5 अप्रैल 2022: जियो बीपी और टीवीएस मोटर कंपनी के बीच, देश में इलेक्ट्रिक दोपहिया और तिपहिया वाहनों की चार्जिंग के लिए एक मजबूत बुनियादी ढांचा बनाने की संभावनाओं का पता लगाने पर सहमति बनी हैं। यह जियो-बीपी के नेटवर्क पर आधारित होगा। इस प्रस्तावित साझेदारी के तहत, टीवीएस के इलेक्ट्रिक वाहनों के ग्राहकों को जियो-बीपी के व्यापक चार्जिंग नेटवर्क तक पहुंच मिलेगी। जाहिर है अन्य इलेक्ट्रानिक वाहनों के लिए भी यह चार्जिंग स्टेशन खुले रहेंगे।   ग्राहकों को व्यापक और विश्वसनीय चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराने के लिए एसी चार्जिंग नेटवर्क के साथ डीसी फास्ट-चार्जिंग नेटवर्क भी बनाया जाएगा। इलेक्ट्रिफिकेशन के क्षेत्र में दोनों कंपनियां को अंतरराष्ट्रीय स्तर की महारत हासिल है, कंपनियां अपनी इस महारत का उपयोग भारतीय बाजार में करेंगी ताकि ग्राहकों को नया अनुभव दिया जा सके।   जियो-बीपी अपने इलेक्ट्रानिक वाहन चार्जिंग और स्वैपिंग स्टेशनों को जियो-बीपी पल्स ब्रांड के तहत चलाता है। जियो-बीपी पल्स ऐप से ग्राहक आसानी से आस-पास के चार्जिंग स्टेशन ढूंढ सकते हैं और अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज कर सकते हैं। जियो-बीपी एक मजबूत चार्जिंग इकोसिस्टम भी बना रहा है जो सभी हितधारकों को लाभ पहुंचाएगा।   टीवीएस मोटर कंपनी ने नए इलेक्ट्रिक मोबिलिटी उत्पादों और संबंधित तकनीकों को विकसित करने की दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति की है। लॉन्च के बाद से कंपनी अपने पहले हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटर TVS iQube की 12,000 से अधिक यूनिट बेच चुकी है। टीवीएस आईक्यूब एक स्मार्ट, कनेक्टेड और व्यावहारिक ईवी है जो ग्राहकों की दैनिक आवागमन की जरूरतों को पूरा करता है। कंपनी 5-25kW की रेंज में दो और तिपहिया वाहनों का एक पूरा पोर्टफोलियो तैयार कर रही है, जो अगले 24 महीनों के भीतर बाजार में उतारा जाएगा।   यह साझेदारी, देश में दोपहिया और तिपहिया ग्राहकों को ईवी अपनाने की दिशा में कदम बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करेगी और साथ ही भारत के नेट-जीरो उत्सर्जन लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगी।  

    Read More »
  • पंजाब में जियोफाइबर की धूम, रिकॉर्ड तेज़ी से पार किया 1.5 लाख कनेक्शन्स का आंकड़ा

    पंजाब में जियोफाइबर की धूम, रिकॉर्ड तेज़ी से पार किया 1.5 लाख कनेक्शन्स का आंकड़ा अल्ट्राएचडी सेट टॉप बॉक्स से साधारण टीवी बनेगा स्मार्ट टीवी…

    Read More »
  • क्रिकेट प्रेमियों के लिए रोमांचक प्लान्स और इनाम ले कर आया “जियो टी-20 दन दना दन”

    क्रिकेट प्रेमियों के लिए रोमांचक प्लान्स और इनाम ले कर आया “जियो टी-20 दन दना दन” दोनई टीमों सहित सभी 10 टीमों का गोरवान्वित साथी मोबाइलऔर टीवी पर लाइव प्रसारण के लिए आकर्षक जियो प्लान्स नएऔर आकर्षक पुरस्कारों के साथ ‘जियो क्रिकेट प्ले अलोंग’ (जेसीपीए) D+Hमोबाइलप्लान बिना किसी अतिरिक्त कीमत के Disney+ Hotstar मोबाइल सब्सक्रिप्शन के साथ आते हैं। Disney+ Hotstar प्रीमियम सब्सक्रिप्शन के साथ चुनिंदा प्लान भी उपलब्ध हैं। भारत का पसंदीदा टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट वापस आ गया है। भारत के T20 बोनान्ज़ा का 2022 संस्करण अब एक नए अवतार में लौटा,  जिसमें अब 10 टीमें शामिल हैं, जिसमें अहमदाबाद और लखनऊ की दो नई टीमें शामिल हैं। इस गेम से जियो का गहरा नाता रहा है। लॉन्च के बाद से, Jio अपने उपयोगकर्ताओं को अभूतपूर्व मूल्य और मनोरंजन प्रदान करने के लिए सभी IPL टीमों का आधिकारिक भागीदार रहा है। Jio लाखों भारतीयों को अपने उत्पादों और सेवाओं के माध्यम से भारतीय खेलों को के करीब लाया है। कोरोना महामारी के कठिन दौर को पीछे छोड्ते हुए,  Jio एक बार फिर इस क्रिकेट सीज़न को अपने हर उपयोगकर्ता के लिए यादगार बनाने के लिए तैयार है। सभी10 टीमों का एकमात्र ब्रांड इस सीजन में जियो एकमात्र ऐसा ब्रांड है जिसने दो नई टीमों सहित सभी 10 टीमों के साथ साझेदारी की है। बड़ेपुरस्कारों के साथ “जियो क्रिकेट प्ले अलॉन्ग” (JCPA) Jio का इंटरेक्टिव गेम, Jio क्रिकेट प्ले अलॉन्ग (JCPA), आईपीएल 2022 के लिए प्रतिभागियों के लिए बड़े और बेहतर पुरस्कारों के साथ वापस आएगा। सभी के लिए मुफ़्त गेम, क्रिकेट प्रेमी भी गेम पर एक विशेष चैट बार पर इमोजी स्टिकर के माध्यम से अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं। प्रशंसक क्रिकेट आधारित क्विज़ में भाग ले कर आनंद ले सकते हैं…

    Read More »
  • जियो और गूगल का 4जी स्मार्टफोन जियोफोन नेक्स्ट अब पंजाब भर के 5500 से ज्यादा मोबाइल स्टोर्स पर उपलब्ध

    जियो और गूगल का 4जी स्मार्टफोन जियोफोन नेक्स्ट अब पंजाब भर के 5500 से ज्यादा मोबाइल स्टोर्स पर उपलब्ध 14…

    Read More »
  • रिलायंस और सनमीना भारत में बनाएंगे वर्ल्ड क्लास इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग हब

    रिलायंस और सनमीना भारत में बनाएंगे वर्ल्ड क्लास इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग हब   1670करोड़ का निवेश करेगा रिलायंस 5जी,डेटा सेंटर, क्लाउड, आईटी, पर रहेगा फोकस इलेक्ट्रानिक हार्डवेयर के सेक्टर में ‘मेक इन इंडिया’ को मिलेगा बल   नई दिल्ली, 03 मार्च, 2022: रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी रिलायंस स्ट्रेटेजिक बिजनेस वेंचर्स लिमिटेड (RSBVL) और  सनमीना कॉर्पोरेशन ने भारत में इलेक्ट्रानिक हब बनाने के लिए एक संयुक्त उद्यम बनाने की घोषणा की है। सनमीना की मौजूदा भारतीय यूनिट में रिलायंस 1670 करोड़ रू का निवेश करेगा। सयुंक्त उद्यम में रिलायंस के पास 50.1 प्रतिशत की हिस्सेदारी होगी। जबकि प्रबंधन सनमीना की मौजूदा टीम के हाथों में रहेगा।   संयुक्त उद्यम संचार नेटवर्किंग जैसे 5G, क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर, हाइपरस्केल डेटासेंटर को प्राथमिकता देगा। साथ ही स्वास्थ्य प्रणालियों, औद्योगिक और रक्षा तथा एयरोस्पेस जैसे उद्योगों के लिए हाई टेक्नॉलोजी हार्डवेयर बनाएगा। कंपनी ने इसे प्रधानमंत्री मोदी के “मेक इन इंडिया” विजन के अनुरूप बताया है। संयुक्त उद्यम सनमीना के मौजूदा ग्राहकों को यह पहले की तरह सेवाएं देता रहेगा  इसके अलावा एक अत्याधुनिक ‘मैन्युफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ बनाया जाएगा, जो भारत में प्रोडक्ट डेवलेपमेंट और हार्डवेयर स्टार्ट-अप के इको-सिस्टम को बढ़ावा देगा।   RSBVL के पास संयुक्त उद्यम इकाई में 50.1% इक्विटी हिस्सेदारी होगी, जबकि शेष 49.9% सनमीना के पास रहेगा। RSBVL इस स्वामित्व को मुख्य रूप से सनमीना की मौजूदा भारतीय इकाई में नए शेयरों में 1,670 करोड़ रुपये तक के निवेश के माध्यम से प्राप्त करेगी। इस निवेश से सनमीना को अपना बिजनेस बढ़ाने में मदद मिलेगी। सभी निर्माण शुरू में चेन्नई में सनमीना के 100 एकड़ के परिसर में होंगे। भविष्य में इनका विस्तार भी किया जा सकेगा।   सनमीना के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जुरे सोला ने कहा, “हम भारत में इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग कंपनी बनाने और रिलायंस के साथ साझेदारी को लेकर बेहद उत्साहित हैं। यह संयुक्त उद्यम घरेलू और निर्यात दोनों बाजारों की जरूरतें पूरा करेगा और भारत सरकार की “मेक इन इंडिया” के लिए मील का पत्थर साबित होगा।“   रिलायंस जियो के निदेशक आकाश अंबानी ने कहा, “भारत में हाई-टेक मैन्युफैक्चरिंग के महत्वपूर्ण बाजार तक पहुंच बनाने के लिए सनमीना के साथ काम करने में हमें खुशी होगी। भारत के विकास और सुरक्षा के लिए आत्मनिर्भर होना आवश्यक है। दूरसंचार, आईटी, डेटा सेंटर, क्लाउड, 5जी, न्यू एनर्जी और अन्य उद्योगों की इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग में आत्मनिर्भरता जरूरी है क्योंकि हम एक नई डिजिटल अर्थव्यवस्था में आगे बढ़ रहे हैं। इस साझेदारी के माध्यम से हम भारतीय और वैश्विक मांग को पूरा करते हुए भारत में इनोवेशन और प्रतिभा को बढ़ावा देने की योजना बना रहे हैं।…

    Read More »
  • जियोफाइबर ने बढ़ायी अपनी पहुंच, अब हरियाणा के 14 शहरों में उपलब्ध

    जियोफाइबर ने बढ़ायी अपनी पहुंच, अब हरियाणा के 14 शहरों में उपलब्ध  चंडीगढ़, फरवरी 15, 2022: रिलायंस जियो ने अंबाला, करनाल, हिसार, पानीपत, रोहतक, सोनीपत, सिरसा, रेवाड़ी, बहादुरगढ़, भिवानी, जींद, कैथल, थानेसर और यमुनानगर सहित हरियाणा के 14 शहरों में अपनी अल्ट्रा हाई स्पीड जियोफाइबर सेवाओं का विस्तार किया है। अब इन शहरों के उपयोगकर्ताओं के पास आज के महामारी के दौर में बाहरी दुनिया से जुड़े रहने का एक विश्वसनीय तरीका है। छात्र ऑनलाइन पढ़ाई करते हुए निर्बाध कनेक्टिविटी का आनंद ले सकते हैं, मरीज अपने घरों के आराम से ऑनलाइन मेडिकल कंसल्टेशन प्राप्त कर सकते हैं और पेशेवर जियोफाइबर पर आसानी से घर से काम कर सकते हैं। जियोफाइबर प्लान्स असीमित डेटा और फ्री एचडी वॉयस कॉलिंग के साथ 399 रुपये प्रति माह की किफायती कीमत से शुरू होते हैं। विभिन्न कॉम्बो प्लान में मुफ्त सेट-टॉप बॉक्स और वॉयस सक्षम रिमोट के साथ, उपयोगकर्ता अब 350 से अधिक टीवी चैनल देख सकते हैं और बिना किसी अतिरिक्त लागत के अपने सामान्य टीवी सेट को स्मार्ट टीवी में बदल सकते हैं । उपयोगकर्ता जियोफाइबर के अनूठे  ट्रिपल प्ले कॉम्बिनेशन का आनंद ले सकते हैं जिसमें 100 एमबीपीएस से 1 जीबीपीएस तक का अल्ट्रा-हाई स्पीड इंटरनेट, अनलिमिटेड लोकल और एसटीडी एचडी कॉलिंग के साथ फिक्स्ड लाइन सेवाएं और नेटफ्लिक्स, अमेज़ॅन प्राइम, डिज्नी+ हॉटस्टार, ज़ी5, यूट्यूब, वूट, सोनी लिव  जैसे  17 लोकप्रिय ओटीटी ऐप तक का एक्सेस प्राप्त है ।   जियोफाइबर  पोस्टपेड प्लानों में ग्राहकों को कुछ और लाभ भी मिलते हैं  जैसे कि ऑप्टिकल नेटवर्क टर्मिनल डिवाइस के लिए उन्हें  कोई सिक्योरिटी डिपॉजिट नहीं करना पड़ता और न ही कोई इंस्टॉलेशन चार्ज देना  पड़ता है ।…

    Read More »
  • सैटेलाइट बेस्ड ब्रॉडबैंड के क्षेत्र में उतरी जियो, SES संग देश भर में शुरू करेगी सर्विस

    सैटेलाइट बेस्ड ब्रॉडबैंड के क्षेत्र में उतरी जियो, SES संग देश भर में शुरू करेगी सर्विस संयुक्तउद्यम का नेटवर्क SES के उपग्रहों पर चलेगा दूरदराजके क्षेत्रों में भी मिलेगा ब्रॉडबैंड नई दिल्ली, 14 फरवरी 2022: मुकेश अंबानी की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स और दुनिया भर में उपग्रह-आधारित कनेक्टिविटी देने वाली कंपनी एसईएस ने सोमवार को जियो स्पेस टेक्नोलॉजी लिमिटेड नाम से एक संयुक्त उद्यम के गठन की घोषणा की। यह नया ज्वाइंट वेंचर देश भर में सैटेलाइट बेस्ड टेक्नॉलोजी का इस्तेमाल कर किफायती ब्रॉडबैंड सेवाएं प्रदान करेगा। जियो प्लेटफॉर्म्स और SES के पास संयुक्त उद्यम में क्रमशः 51% और 49% इक्विटी हिस्सेदारी होगी। संयुक्त उद्यम मल्टी-ऑर्बिट स्पेस नेटवर्क का उपयोग करेगा। इस नेटवर्क में जियोस्टेशनरी (जीईओ) और मीडियम अर्थ ऑर्बिट (एमईओ) सैटेलाइट्स का इस्तेमाल किया जाएगा। नेटवर्क के मल्टी-गीगाबिट लिंक से भारत समेत पड़ोसी देशों के उद्यम, मोबाइल और खुदरा ग्राहक भी जुड़े सकेंगे। एसईएस 100 जीबीपीएस क्षमता उपलब्ध कराएगा। जिसको जियो अपने मजबूत सेल्स नेटवर्क से बेचेगा। निवेश योजना के हिस्से के रूप में, संयुक्त उद्यम देश के भीतर सेवाएं प्रदान करने के लिए भारत में व्यापक गेटवे इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करेगा। इस डील के तहत जियो अगले कुछ वर्षों में लगभग 100 मिलियन अमेरिकी डॉलर के गेटवे और उपकरण खरीदेगा।  संयुक्त उद्यम में जहां SES अपने मॉडर्न सैटेलाइट देगा वहीं जियो, गेटवे इंफ्रास्ट्रक्चर का संचालन व प्रबंधन करेगा। कंपनी ने बयान में कहा है कि कोविड -19 ने हमें सिखाया है कि नई डिजिटल अर्थव्यवस्था में पूर्ण भागीदारी के लिए ब्रॉडबैंड तक पहुंच जरूरी है। यह संयुक्त उद्यम भारत को डिजिटल सेवाओं से जोड़गा। साथ ही व दूरस्थ स्वास्थ्य, सरकारी सेवाओं और दूरस्थ शिक्षा के अवसरों तक पहुंच प्रदान करेगा। जियो के निदेशक आकाश अंबानी ने कहा, “हम अपनी फाइबर-आधारित कनेक्टिविटी और एफटीटीएच बिजनेस के साथ 5 जी में निवेश जारी रखेंगे। दूसरी तरफ एसईएस के साथ यह नया संयुक्त उद्यम मल्टीगीगाबिट ब्रॉडबैंड के विकास को और तेज करेगा। उपग्रह संचार सेवाओं द्वारा प्रदान की जाने वाली अतिरिक्त कवरेज और क्षमता के साथ, जियो दूरस्थ शहरों और गांवों, उद्यमों, सरकारी प्रतिष्ठानों और उपभोक्ताओं को नए डिजिटल इंडिया से जोड़ेगा। हम एसईएस की उपग्रह उद्योग में विशेषज्ञता के साथ जुड़ने पर उत्साहित हैं।“ एसईएस के सीईओ स्टीव कॉलर ने कहा, “जियो प्लेटफॉर्म्स के साथ यह संयुक्त उद्यम इस बात का एक बेहतरीन उदाहरण है कि कैसे एसईएस उच्च गुणवत्ता वाले कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए सबसे व्यापक जमीनी नेटवर्क का पूरक हो सकता है, और लाखों लोगों के जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। हम इस संयुक्त उद्यम के लिए तैयार हैं।” प्रेस में जारी बयान में कंपनी ने कहा कि यह संयुक्त उद्यम माननीय प्रधान मंत्री की ‘गति शक्ति: मल्टी-मोडल कनेक्टिविटी के राष्ट्रीय मास्टर प्लान’ को आगे बढ़ाने का जरिया बनेगा। ताकि बुनियादी ढांचे को मजबूत करके एकीकृत और निर्बाध कनेक्टिविटी प्रदान की जा सके। यह भारतीय नागरिकों के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी का विस्तार करके, राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति और डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में कनेक्ट इंडिया के लक्ष्यों को तेजी से बढ़ाएगा।

    Read More »
Back to top button
error: Content is protected !!